एक व्यक्ति समान दुरी पर स्थित क्षैतिज एवं उर्ध्वाधर रेखाओं को एक साथ स्पष्ट क्यों नहीं देख पाता है?

एक व्यक्ति समान दुरी पर स्थित क्षैतिज एवं उर्ध्वाधर रेखाओं को एक साथ स्पष्ट नहीं देख पाता है क्योंकि वह दृष्टि वैषय रोग से ग्रसित है जो कि नेत्र कार्निया की गोलाई में अनियमितत्य के कारण उत्पन्न होता है। इस दोष के निवारण हेतु बेलनाकार लैन्स का प्रयोग किया जाता है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts